Home उत्तराखंड काफल तोड़ने जंगल गई महिला पर गुलदार का हमला, महिला की मौके...

काफल तोड़ने जंगल गई महिला पर गुलदार का हमला, महिला की मौके पर ही मौत…..

184
SHARE

उत्तराखंड में मानव पर वन्य जीवों के हमले बढ़ते जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में भालू व गुलदार के हमलों से अब तक की लोगों की जान चली गई है। वन्य जीवों के बढ़ते हमलों को रोकने के लिए सरकार व वन विभाग आज भी कोई ठोस कदम नहीं उठा पाया है।

रविवार को एक बार फिर गुलदार के हमले में एक महिला की मौत हो गई, गढ़वाल वन प्रभाग की पौड़ी रेंज के सपलोड़ी गांव में जंगल गई एक महिला पर घात लगाए गुलदार ने हमला कर मार डाला। सूचना मिलने वन महकमे के साथ ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची है। गुलदार के हमलों को लेकर यह क्षेत्र पहले से काफी संवेदनशील रहा है। इससे पहले इसी क्षेत्र के सरणा गांव में भी गुलदार ने हमला किया था।

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार गांव की महिलाएं रविवार शाम को गांव के पास ही सटे जंगल में काफल लेनी गई थी। तभी वहां पहले से घात लगाए गुलदार ने सुषमा देवी 45 साल पत्नी एच. एस रावत पर हमला बोल दिया। ग्रामीणों ने बताया कि साथ गई महिला ने गुलदार को भगाने के लिए पत्थरों से भी वार किए, लेकिन गुलदार ने महिला को नहीं छोड़ा। गुलदार के हमले में सुषमा की मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीणों के मुताबिक सुषमा के पति मिस्त्री आदि काम कर अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं।

परिवार की माली हालत काफी नाजुक है। हमले से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। सुषमा देवी की दो बेटियों की शादी हो चुकी है। जबकि अभी तीन बेटियां पढ़ रही है। घटना की जानकारी मिलने पर वन विभाग के साथ ही पाबौ से पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा। देर रात शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।