Home अपना उत्तराखंड नैनीताल में झमाझम बारिश से जंगलों की आग बुझी…

नैनीताल में झमाझम बारिश से जंगलों की आग बुझी…

1175
SHARE

आज दोपहर बाद नैनीताल में हुई झमाझम बारिश ने जहां एक ओर मौसम सुहावना बना दिया। वहीं जंगलों में लगी आग भी बुझा दी। राज्य में बदले मौसम से राजधानी के तापमान में भी कमी आई है। हालांकि आज दोपहर बाद देहरादून में भी बादल घिर आए। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि दून समेत प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में 15 मई तक बादल छाए रहने और बारिश का अनुमान है। उन्होंने बताया कि इस दौरान 14 मई को 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी भी चल सकती है। कुछ इलाकों में ओले भी गिर सकते हैं।

रविवार सुबह से दोपहर तक पिथौरागढ़ में धूप खिली रही। दोपहर बाद मौसम ने अचानक करवट बदली। मुनस्यारी और धारचूला में हल्की बारिश हुई। बारिश से एक बार फिर ठंड लौट आई। जिलेभर में रविवार को भी आसमान में धुंध छाई रही। शाम के समय जिला मुख्यालय में भी बारिश के आसार बन रहे थे लेकिन बारिश नहीं हुई। मौसम में आई तब्दीली से गरमी से राहत मिली है।

केदारनाथ में रविवार को लगातार तीसरे दिन भी मौसम का मिजाज बिगड़ा रहा। सुबह से दोपहर बाद तक कई बार बर्फबारी हुई, जिससे ठंड बढ़ गई। धाम में करीब चार इंच तक नई बर्फ जम चुकी है। उधर, चमोली जिले में बदरीनाथ धाम की चोटियों के साथ ही हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, फूलों की घाटी, घांघरिया, लाल माटी सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। रविवार को भी बदरीनाथ धाम की चोटियों के साथ ही हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, फूलों की घाटी, घांघरिया, लाल माटी सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। जबकि बदरीनाथ धाम में बर्फबारी हुई। जिले के निचले क्षेत्रों में दोपहर बाद बारिश हुई, जिससे मौसम में ठंडक आ गई। बारिश-बर्फबारी से हेमकुंड साहिब मार्ग पर बर्फ हटाने का काम प्रभावित हुआ।