Home उत्तराखंड उत्तराखण्ड के इतिहास में पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष बनी ऋतु खंडूरी….

उत्तराखण्ड के इतिहास में पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष बनी ऋतु खंडूरी….

254
SHARE

कोटद्वार विधायक ऋतु खंडूरी उत्तराखण्ड की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष बन गई है। उन्हें निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष घोषित किया गया है, प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने इसकी घोषणा की है। प्रोटेम स्पीकर सहित सभी सदस्यों ने उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

विधानसभा अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद रितु भूषण खंडूरी में कहा कि वह सदन को आश्वस्त करना चाहते हैं कि अपने संपूर्ण क्षमताओं से उच्च से उच्च संसदीय आदर्श एवं परंपराओं का निर्वहन करने का प्रयास करेंगे सभी सदस्यों से सदन के संचालन में सहयोग करने की अपील की साथ ही कहा कि सदन की कार्रवाई का सफल संचालन सभी सदस्यों के सहयोग पर निर्भर करता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य के इतिहास में पहली बार महिला को सम्मान देते हुए सम्मानित सदन का अध्यक्ष चुना गया है। उन्होंने पंचम विधानसभा का निर्विरोध रूप से अध्यक्ष चुने जाने पर पक्ष एवं विपक्ष के सदस्यों का आभार व्यक्त किया।

रितु भूषण खंडूरी उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद खंडूरी की बेटी है। उनका जन्म 29 जनवरी 1965 को नैनीताल जनपद की फौजी परिवार में हुआ था उन्होंने मेरठ के रघुनाथ गर्ल्स कॉलेज से एलिवेशन की डिग्री हासिल की है इसके बाद राजस्थान विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन किया। साल 2006 से 2017 तक उन्होंने नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी में फैकल्टी के रूप में भी काम किया। लंबे समय से समाजसेवा में सक्रिय रही ऋतु खंडूरी ने 2017 में अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की और भाजपा के टिकट पर यमकेश्वर सीट से चुनाव लड़ा तथा जीत दर्ज की। 2022 में उन्होंने कोटद्वार सीट से चुनाव जीता और 2017 में अपने पिता की हार का भी बदला लिया है।

बता दें कि उत्तराखण्ड की 5वीं विधानसभा का सत्र 29 मार्च से शुरू हो रहा है। सत्र की शुरूआत राज्यपाल अभिभाषण के साथ होगी और अगले दिन उस पर धन्यवाद प्रस्ताव आएगा। इसके बाद धामी सरकार की ओर से नए वित्तीय वर्ष में राज्य के खर्च के लिए लेखानुदान प्रस्तुत किया जाएगा और 31 मार्च यानी इस वित्त वर्ष के आर्थिकी दिन लेखानुदान विधेयक पारित किया जाएगा।