Home अपना उत्तराखंड राजस्थान से लगती भारत-पाक सीमा पर तीनों सेना ने कमर कसी, धारा...

राजस्थान से लगती भारत-पाक सीमा पर तीनों सेना ने कमर कसी, धारा 144 लागू

900
SHARE

राजस्थान से लगती भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ, थल सेना और वायु सेना ने कमर कसी हुई है। बॉर्डर के दो किलोमीटर दायरे में धारा 144 लागू कर दी गई है। यहां शाम सात बजे से सुबह छह बजे तक किसी तरह का आवागमन नहीं होगा। सरहद पर बसे गांवों के लोगों में जोश इतना है कि सभी सेना के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने को तैयार हैं।

यहां जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर और श्रीगंगानगर जिलों में सरहद के नजदीक बसे गांवों को विपरीत परिस्थितियों में गांव खाली करने की तैयारी रखने के लिए कहा गया है। फिलहाल कोई गांव खाली नहीं करवाया गया है। बॉर्डर के नजदीक स्थित नाचना फांटा स्थित आर्मी एरिया के इर्द-गिर्द घूमते एक संदिग्ध युवक को पकड़ा है, जिसे पुलिस को सौंपा। सुरक्षा एजेंसियां संदिग्ध से पूछताछ में जुटी हैं।

सरहदी जिले श्रीगंगानगर के सीमावर्ती क्षेत्रों में बुधवार सुबह धमाकों की आवाज आई, जिससे गांववासी घबरा गए, लेकिन बाद में सब सामान्य हो गया। इधर, जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने आवास पर उच्च स्तरीय बैठक बुलाई और सीमा पर सुरक्षा को लेकर समीक्षा की। राजस्थान सरकार ने पुलिस प्रशासन के अधिकारियों व कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं और चिकित्सा विभाग को हाई अलर्ट रहने को कहा गया है। सभी कर्मचारियों व अधिकारियों को अपने-अपने संबंधित क्षेत्रों में ही रहने के आदेश जारी किए गए हैं। राजस्थान के गृह विभाग के सूत्रों के अनुसार सीमा पर तनाव को देखते हुए आसपास के थानों को अलर्ट कर दिया गया है। इलाके में पुलिस गश्त व नाकेबंदी शुरू कर दी गई है।

पायलटों को दो मिनट में तैयार रहने के निर्देश 

जोधपुर के साथ पश्चिमी सीमा के जैसलमेर, जामनगर, उत्तरलाई, फलोदी एयरबेस पर लड़ाकू विमान और उनके पायलट हर घड़ी अलर्ट हैं। पायलटों को जरूरत पड़ने पर दो मिनट में किसी भी कार्रवाई के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। जयपुर, जोधपुर, बीकानेर व उदयपुर के सभी एयरपोर्ट हाई अलर्ट पर रखे गए हैं और सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस बीच जैसलमेर एयरपोर्ट को आमजन के लिए बंद कर दिया गया है, जिसे बृहस्पतिवार से सामान्य रूप से संचालित किया जाएगा। इसकी सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं।

राजस्थान बॉर्डर के नजदीक बसे गांवों के लोगों के पास तेरह डिजिट के नंबर से फोन आए, जिस पर सेना की लोकेशन की जानकारी लेने का प्रयास किया गया। सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि ये पाकिस्तान की करतूत है। इंटरनेट के जरिए कॉलिंग है, जिसकी जांच की जा रही है। जैसलमेर के सीमावर्ती गांव तनोट के सरपंच अशोक कुमार ने बताया की सेना के अधिकारियों ने अलर्ट रहने, संदिग्ध व्यक्ति पर नजर रखने और अनजान या अजीब गतिविधियों की सूचना तुरंत देने को कहा है।