Home उत्तराखंड गांव शहर की एक पुकार, उद्यमिता और स्वरोजगार कार्यक्रम में CIMS&R देहरादून...

गांव शहर की एक पुकार, उद्यमिता और स्वरोजगार कार्यक्रम में CIMS&R देहरादून के छात्र-छात्राओं ने सीखे स्वालंबन के गुर….

41
SHARE

स्वालम्बी भारत अभियान समिति देहरादून एवं क्षमता संवर्धन एवं कौशल विकास केन्द्र सीआईएमएस कॉलेज देहरादून के संयुक्त तत्वाधान में गांव शहर की एक पुकार, उद्यमिता और स्वरोजगार कार्यक्रम का आयोजन CIMS&R कॉलेज में देहरादून में किया गया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रांत प्रचारक युद्धवीर सिंह मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहे। कार्यक्रम में स्वदेशी जागरण मंच के श्रेत्र संयोजक पश्चिमी उत्तर प्रदेश (उत्तराखण्ड, बृज, मेरठ) डॉ. राजीव कुमार मुख्य ने मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल होकर कॉलेज छात्र-छात्राओं का मार्गदर्शन किया। इस दौरान दरबान सिंह सिरयाल प्रान्त समन्वयक स्वालम्बी भारत अभियान, प्रीति शुक्ला प्रान्त सह महिला समन्वयक, सुरेन्द्र प्रान्त संयोजक स्वदेशी जागरण मंच, प्रवीन मंमगाई भारतीय मजदूर संघ संरक्षक सहित स्वयं सेवक वीरेन्द्र कुमार और नैनवाल सिंह भी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत किया। साथ ही सभी छात्र-छात्राओं से वक्ताओं के विचारों को सुनकर उनके बताए मार्ग पर चलने का आग्रह किया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. राजीव कुमार ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि युवाओं को नौकरी की बजाए स्वालंबन की ओर बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत की परम्मरा स्वालंबन की थी, लेकिन विदेशी ताकतों ने हम पर आक्रमण कर हमारी स्वालंबन की परंपरा को ही बदल डाला। लार्ड मैकॉले की शिक्षा पद्धति हम पर थोप दी गई,  इसी पद्दति के कारण आज हमारे गांव खाली हो गए। हमारा युवा पढ-लिखकर नौकरी के लिए गांव छोड़ गए हैं। उन्होंने कहा कि स्वालंबी भारत अभियान युवाओं की इस सोच को बदलने का अभियान है, हमें आज से सोचना होगा कि स्वरोजगार और उद्यमिता की ओर बढ़ना होगा।

वहीं मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रांत प्रचारक युद्धवीर सिंह मुख्य छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए स्वालंबन को लेकर हम जो भी बात कर रहे हैं, हमें इन्हें अपने जीवन में भी उतारना है। उन्होंने कहा कि पढ़ाई करके हम अपनी नॉलेज बढ़ाते हैं, लेकिन नॉलेज के साथ-साथ हमें अपनी स्किल भी बढ़ानी है। हमारी स्किल बढ़ेगी तभी हम स्वालंबी भारत अभियान को सफल बना सकते हैं।

कार्यक्रम के अंत में कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने सभी वक्ताओं का धन्यवाद अदा किया। कार्यक्रम में सीआईएमएस कॉलेज के मैनेजिंग डायरेक्टर संजय जोशी, डायरेक्टर केदार सिंह अधिकारी, प्रिंसिपल गुरप्रीत सैनी, रजिस्ट्रार गिरीश जोशी सहित शिक्षक, कर्मचारी व 500 से अधिक छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

 

कार्यक्रम का आयोजन CIMS&R कॉलेज में देहरादून में किया गया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रांत प्रचारक युद्धवीर सिंह मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहे। कार्यक्रम में स्वदेशी जागरण मंच के श्रेत्र संयोजक पश्चिमी उत्तर प्रदेश (उत्तराखण्ड, बृज, मेरठ) डॉ. राजीव कुमार मुख्य ने मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल होकर कॉलेज छात्र-छात्राओं का मार्गदर्शन किया। इस दौरान दरबान सिंह सिरयाल प्रान्त समन्वयक स्वालम्बी भारत अभियान, प्रीति शुक्ला प्रान्त सह महिला समन्वयक, सुरेन्द्र प्रान्त संयोजक स्वदेशी जागरण मंच, प्रवीन मंमगाई भारतीय मजदूर संघ संरक्षक सहित स्वयं सेवक वीरेन्द्र कुमार और नैनवाल सिंह भी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत किया। साथ ही सभी छात्र-छात्राओं से वक्ताओं के विचारों को सुनकर उनके बताए मार्ग पर चलने का आग्रह किया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. राजीव कुमार ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि युवाओं को नौकरी की बजाए स्वालंबन की ओर बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत की परम्मरा स्वालंबन की थी, लेकिन विदेशी ताकतों ने हम पर आक्रमण कर हमारी स्वालंबन की परंपरा को ही बदल डाला। लार्ड मैकॉले की शिक्षा पद्धति हम पर थोप दी गई,  इसी पद्दति के कारण आज हमारे गांव खाली हो गए। हमारा युवा पढ-लिखकर नौकरी के लिए गांव छोड़ गए हैं। उन्होंने कहा कि स्वालंबी भारत अभियान युवाओं की इस सोच को बदलने का अभियान है, हमें आज से सोचना होगा कि स्वरोजगार और उद्यमिता की ओर बढ़ना होगा।

वहीं मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रांत प्रचारक युद्धवीर सिंह मुख्य छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए स्वालंबन को लेकर हम जो भी बात कर रहे हैं, हमें इन्हें अपने जीवन में भी उतारना है। उन्होंने कहा कि पढ़ाई करके हम अपनी नॉलेज बढ़ाते हैं, लेकिन नॉलेज के साथ-साथ हमें अपनी स्किल भी बढ़ानी है। हमारी स्किल बढ़ेगी तभी हम स्वालंबी भारत अभियान को सफल बना सकते हैं।

कार्यक्रम के अंत में कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने सभी वक्ताओं का धन्यवाद अदा किया। कार्यक्रम में सीआईएमएस कॉलेज के मैनेजिंग डायरेक्टर संजय जोशी, डायरेक्टर केदार सिंह अधिकारी, प्रिंसिपल गुरप्रीत सैनी, रजिस्ट्रार गिरीश जोशी सहित शिक्षक, कर्मचारी व 500 से अधिक छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।