Home उत्तराखंड आसमानी आफत के बीच 500 से अधिक जिंदगियों के लिए देवदूत बनी...

आसमानी आफत के बीच 500 से अधिक जिंदगियों के लिए देवदूत बनी एसडीआरएफ…

7
SHARE

उत्तराखण्ड में लगातार बारिश का दौर जारी है। कुमाऊं मण्डल में अत्यधिक बारिश से चम्पावत व उधमसिंहनगर के मैदानी क्षेत्र के कई इलाके पूरी तरह से जलमग्न हो गए। जलभराव होने से कई मकान पूरी तरह से पानी से भर गए हैं। सैंकड़ो लोग घरों के अंदर छतों पर फंस गये। जलभराव के कारण फंसे इन सैंकडों लोगों के लिए एसडीआरएफ के जवान देवदूत बनकर सामने आए हैं और प्रभावितों का रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रहे हैं। सेनानायक एसडीआरएफ द्वारा एसडीआरएफ टीमों को आवश्यक उपकरणों के साथ घटनास्थल पर पहुँचकर राहत एवं बचाव कार्य किये जाने हेतु निर्देशित किया। साथ ही ढालवाला से भी SDRF की एक टीम को बैकअप के तौर पर प्रातः 04:00 बजे उधमसिंहनगर के लिए रवाना किया गया।

चम्पावत- जगपुरा, बनबसा से शुरु हुआ रेस्क्यू अभियान
देर रात्रि जगपुरा में अतिवृष्टि से आई बाढ़ में कुछ लोगों के फंसे होने की सूचना पर एसडीआरएफ टीम द्वारा मुश्किल हालातों में 30 महिला, पुरुषों व बच्चों को सुरक्षित निकालकर रैन बसेरा, बनबसा भिजवाया गया। SDRF टीमों द्वारा तत्पश्चात दो टीमों में बंट कर टनकपुर के वार्ड नंबर-9 व देवपुरा बनबसा में फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए रेस्क्यू अभियान चलाकर राफ्ट के माध्यम से वर्तमान समय तक 122 लोगों जिसमें बच्चे, वृद्ध व महिलाएं सम्मिलित थी, को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया जा चुका है।

स्थानीय लोगों ने SDRF का जताया आभार
जनपद चम्पावत- टनकपुर वार्ड नंबर 09 में देर रात्रि हुए जल भराव के दौरान एसडीआरएफ रेस्क्यू टीम द्वारा राहत बचाव कार्य करते हुए 03 परिवारों के 12 सदस्यों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया गया। सुबह SDRF की टीम द्वारा रात्रि में रेस्क्यू किये गये लोगों से उनकी कुशलता ली, इस पर स्थानीय लोगों द्वारा उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुँचाने के लिये आभार जताया।

उधमसिंहनगर- सितारगंज, चतरपुर, खटीमा में SDRF की 03 टीमों ने समन्वय स्थापित कर चलाया रेस्क्यू ऑपरेशन।

एसडीआरएफ की टीम भारी बारिश के बीच उफनती धाराओं में हर चुनौती का सामना करते हुए खटीमा क्षेत्रान्तर्गत चतरपुर में जलभराव के बीच फंसे हुए 250 से अधिक लोगों को रेस्क्यू कर राफ्ट के माध्यम से सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया गया। वहीं दूसरी ओर ऋषिकेश से भेजी गयी बैकअप टीम द्वारा अरविन्दनगर, सितारगंज में मोर्चा संभाला गया। अरविन्दनगर में जलभराव के बीच फंसे हुए लोगों को राफ्ट के माध्यम से 59 लोगों को प्राथमिक विद्यालय, झाड़ी, सितारगंज सकुशल पहुँचाया गया, जहाँ उनके रुकने एवं खाने की व्यवस्था की गई है। सितारगंज में अभी तक 107 लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया जा चुका है।

जनपद उधमसिंहनगर में SDRF की 03 टीमें रेस्क्यू में जूटी हुई है, रेस्क्यू टीमों द्वारा भारी बारिश के बीच युद्धस्तर पर मोर्चा संभाला हुआ है। दोनों जनपदों में अभी तक 5,00 से अधिक लोगो को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया जा चुका है। रेस्क्यू टीमों द्वारा मझोला व नानकमत्ता, खटीमा में बचाव अभियान अभी भी जारी है।