Home अंतर्राष्ट्रीय मोदी को दुनिया का सलाम, UAE के बाद अब रूस देगा अपना...

मोदी को दुनिया का सलाम, UAE के बाद अब रूस देगा अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान

987
SHARE

लोकसभा चुनाव के बीच विपक्ष के हमले झेल रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए रूस से अच्छी खबर आई है। नरेंद्र मोदी को दुनिया का एक और सम्मान मिला है। रूस ने पीएम मोदी को अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान- सेंट एंड्रयू अवॉर्ड देने का फैसला किया है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी इसको मंजूरी दे दी है। बता दें कि बीते कुछ दिनों में प्रधानमंत्री को कई अंतरराष्ट्रीय सम्मान मिल चुके हैं। हाल ही में यूएई ने भी उन्हें ज़ायद अवॉर्ड देने का ऐलान किया था।

रूसी दूतावास ने अपने एक बयान में कहा है, ”12 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सेंट एंड्रयू यानी रूस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान देने का ऐलान किया गया है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ये सम्मान भारत और रूस के रिश्तों को मजबूत करने के लिए दिया गया है।

बता दें कि ये अवॉर्ड पाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे। इससे पहले ये सम्मान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी मिल चुका है।

यूएई ने दिया था ज़ायद मेडल

कुछ दिन पहले संयुक्त अरब अमीरात ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज़ायद मेडल देने का ऐलान किया था। यूएई की तरफ से ये सम्मान दोनों देशों के संबंधों को नई ऊंचाई पर दिए जाने के लिए दिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूएई के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद को इस सम्मान के लिए शुक्रिया भी अदा किया था।

दक्षिण कोरिया को भी मिला सम्मान

इसी साल फरवरी में भी प्रधानमंत्री को दक्षिण कोरिया ने सियोल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया था। इस पुरस्कार से सम्मानित होने वाले प्रधानमंत्री मोदी पहले भारतीय व्यक्ति थे।

दक्षिण कोरिया की ओर से कहा गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक ग्लोबल लीडर के तौर पर उभर रहे हैं, साथ ही उन्होंने दोनों देशों के संबंध और अच्छे किए हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र की तरफ से चैंपियंस ऑफ अर्थ का सम्मान भी दिया जा चुका है।

विपक्ष के निशाने पर रहते हैं पीएम के विदेशी दौरे

गौरतलब है कि भारत में विपक्षी पार्टियां लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके विदेशी दौरों के लिए निशाने पर लेती रही है। वहीं, खुद पीएम मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अपनी सरकार की विदेश नीति को ऐतिहासिक बताती है। इस बीच एक और पुरस्कार मिलना पीएम के लिए अच्छी खबर साबित हो सकता है।