Home अपना उत्तराखंड मौनी अमावस्या: श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी, ये है...

मौनी अमावस्या: श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी, ये है महत्व

1649
SHARE
सोमवती अमावस्या पर गंगा स्नान का महत्व
सोमवती अमावस्या पर गंगा स्नान का विशेष महत्व माना जाता है। इसीलिए इस मौके पर गंगा स्नान करने के लिए देश के कोने-कोने से श्रद्धालु  हरिद्वार पहुंचते है।  मान्यता के अनुसार इस दिन गंगा में डूबकी लगाने में मनुष्य के सभी कष्ट दूर हो जाते है और सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। माना जाता है कि आज के दिन गंगा स्नान करने से अश्वमेघ यज्ञ के बराबर फल की प्राप्ति होती है।

हरकी पैड़ी पर उमड़ा श्रद्धालुओं का जन सैलाब
हरकी पैड़ी सहित विभिन्न घाटों पर गंगा स्नान सूर्योदय से पूर्व शुरू हो चुका है और सायंकाल सूर्यास्त तक चलता रहेगा। श्रद्धालु दिनभर मौन साधना भी करेंगे। इस दिन गंगा स्नान के साथ जप, तप और दान का खास महत्व बताया गया है। आज के दिन पितृ कार्य करने से सात जन्मों के और सात पीढ़ियों के पितृ ऋण व पितृ दोष से मुक्त मिलती है।

 
सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

हरिद्वार में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए हरकी पैड़ी समेत अन्य घाटों पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए है, चप्पे-चप्पे पुलिस के जवानों को तैनात किया है। इसी के साथ भीड़ के कारण शहर में जाम न लगे इसके लिए ट्रैफिक पुलिस हर जगह मुस्तैद दिखाई दे रही है।