Home अपना उत्तराखंड गोवा-केरल को पछाड़ साहसिक खेलों की राजधानी बना ऋषिकेश, केंद्र सरकार के...

गोवा-केरल को पछाड़ साहसिक खेलों की राजधानी बना ऋषिकेश, केंद्र सरकार के अध्ययन में हुआ खुलासा

912
SHARE
केंद्र सरकार के पर्यटन मंत्रालय के एक अध्ययन के अनुसार ऋषिकेश को देश की साहसिक खेलों की राजधानी के रूप में चिन्हित किया गया है। लोकप्रिय और तीव्र राफ्टिंग रैपिड्स के साथ-साथ देश के सर्वोच्च बंजी जंपिंग प्लेटफार्म की मेजबानी करने वाला ऋषिकेश इस वर्ष एडवेंचर प्रेमियों की पहली पसंद रहा। एडवेंचर प्रेमियों की पसंद के मामले में गोवा दूसरे और केरल तीसरे स्थान पर रहा है।

सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर के अनुसार वर्ष 2018 को केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने एडवेंचर ईयर के रूप में मनाया। इस ईयर में इस प्रकार की महत्वपूर्ण उपलब्धि प्राप्त करना राज्य के पर्यटन के लिए सम्मान का विषय है। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश अब न केवल योग राजधानी, बल्कि एडवेंचर कैपिटल की उपाधि से भी सम्मानित हो गया है। आगामी फरवरी माह में प्रस्तावित पाटा-2019 के परिप्रेक्ष्य में यह एक सकारात्मक संदेश है।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के अध्ययन में यह भी सामने आया है कि सर्वाधिक 25 फीसदी लोगों ने ट्रेकिंग को चुना। 14 फीसदी भारतीयों की पसंद बनकर रिवर राफ्टिंग अत्यधिक लोकप्रिय एडवेंचर स्पोर्ट साबित हुआ। कारण यह बताया गया है कि भारत में काफी सारे राफ्टिंग रेपिड्स उपलब्ध हैं और लोग एक ग्रुप के रूप में राफ्टिंग का आनंद लेना पसंद करते हैं।

उन्होंने बताया कि ऋषिकेश में होने वाली बंजी जंपिंग अध्ययन का एक महत्वपूर्ण विषय रहा। पिछले आठ वर्षों में इसकी शुरुआत से लेकर अब तक यहां से 70,000 जंप किए जा चुके हैं जो एक छोटी सी अवधि में स्थापित किया गया अंतरराष्ट्रीय मानक है। कैंपिंग एक अन्य महत्वपूर्ण शैक्षिक गतिविधि के रूप में हो रहा है। लगभग 10 फीसदी लोगों ने इस विकल्प को एडवेंचर के माध्यम के रूप में चुना है।