Home उत्तराखंड वक्त का हर क्षण और रक्त का हर कण अमूल्य होता है-...

वक्त का हर क्षण और रक्त का हर कण अमूल्य होता है- ललित जोशी..

11
SHARE

सामाजिक संगठन विचार एक नई सोच और पीआरएसआई देहरादून चैप्टर सहित 9 अन्य संस्थाओं के सहयोग से रविवार 30 जून को देहरादून के निजी रेस्टोरेंट में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 240 यूनिट रक्त एकत्रित हुआ। शिविर में एकत्रित रक्त यूनिट को दून मेडिकल कॉलेज को दिया गया। इस मौके पर स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने वाले 51 व्यक्तियों को सम्मानित किया गया। जिनमें स्वास्थ्यकर्मी, पत्रकार व समाजसेवी शामिल थे।

रक्तदान शिविर का उद्घाटन मुख्य अतिथि भाजपा के वरिष्ठ नेता और समाजसेवी श्याम अग्रवाल एवं सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित जोशी ने किया। भाजपा के वरिष्ठ नेता और समाजसेवी श्याम अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश के अस्पतालों में रक्त की अक्सर कमी महसूस होती है। यदि समय पर मरीज को रक्त मिल जाए तो उसकी जान बच जाती है। संगठन द्वारा आयोजित इस शिविर से एकत्रित रक्त से कई मरीजों की जान बच जाएगी। उन्होंने शिविर आयोजन में सहयोगी संस्थाओं की भी सराहना की।

इस अवसर पर सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने कहा प्रत्येक स्वस्थ्य व्यक्ति को रक्तदान जरूर करना चाहिए। उन्होंने कहा वह हर साल रक्तदान करते हैं। उन्होंने अपील की है कि 18 से 65 वर्ष तक आयु वर्ग का कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है।

बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने कहा कि रक्तदान महादान है। एक स्वस्थ व्यक्ति यदि रक्तदान करता है तो वह किसी के जीवन को बचा सकता है। उन्होंने कहा कि रक्तदान को लेकर समाज में जागरूकता की जरूरत है। इस तरह के शिविरों का आयोजन होने से अस्पतालों में मरीजों को ब्लड की जरूरत पूरी हो सकती है।

दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना ने कहा कि यह रक्त अस्पताल में जरूरतमंद मरीजों के साथ ही गरीब मरीजों को निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने विचार एक नई सोच संगठन के इस प्रयास की सराहना की और कहा कि समाज के अन्य संगठनों को भी रक्तदान शिविर आयोजित करने चाहिए।

टिहरी के विधायक किशोर उपाध्याय ने कहा कि रक्तदान को लेकर जनजागरूकता जरूरी है। रक्तदान को लेकर यह भ्रम है कि इससे शरीर में कमजोरी आती है, लेकिन यह सच नहीं है। रक्तदान से शरीर में रक्तप्रवाह सुधरता है और हृदयाघात और हृदयरोग की संभावना भी कम होती है।

इस मौके पर भाजपा नेता जोगेंद्र पुंडीर ने भी रक्तदान करने के साथ ही लोगों को भी रक्तदान के लिए प्रेरित किया।

इस मौके पर कलर्ड चैकर्स फिल्मस एंड इंटरटेेंटमेंट के निदेशक वैभव गोयल के नेतृत्व में पूरी टीम ने रक्तदान किया और सभी से उत्तराखंडी व्यंजनों पर बनी फिल्म ‘मीठी, मां कु आशीर्वाद‘ के लिए समर्थन मांगा।

विचार एक नई सोच सामाजिक संगठन के संरक्षक डॉ एसडी जोशी ने कहा कि महिला का 12.5 और पुरुषों में 13.5 हीमोग्लोबिन है तो वो रक्तदान कर सकते हैं। इस मौके पर सभी 11 संस्थाओं के पदाधिकारी और सदस्य मौजूद थे।