Home अपराध ‘धरती से मिटा दो जैश और लश्कर का नाम’ इस पाकिस्तानी शख्स...

‘धरती से मिटा दो जैश और लश्कर का नाम’ इस पाकिस्तानी शख्स की भारत से गुहार

764
SHARE

नई दिल्ली, जेएनएन। Pulwama Terror Attack जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा जिले में बृहस्पतिवार शाम को अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले में 44 जवानों के शहीद होने की घटना से जहां पूरा देश गुस्से में है, वहीं अमन पसंद पाकिस्तानी भी नाराज नजर आ रहा है। इसकी झलक भी सोशल मीडिया पर देखने को मिल रही है। भारतीयों के साथ विदेशों में बसे पाकिस्तानी भी सोशल मीडिया पर पुलवामा में आतंकी हमले की कड़ी निंदा कर कर रहे हैं। इतना ही नहीं, अपने देश के खूंखार आतंकी संगठनों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

इस कड़ी में आतंकी हमले के मद्देनजर नीदरलैंड की राजधानी एम्सटर्डम शहर में बसे अहमद वकास गोराया ने  भारत के प्रति संवेदना जाहिर करते हुए ट्वीट किया है – ‘हम अमन पसंद पाकिस्तानी भी भारत के ऋणी और शुक्रगुजार रहेंगे, अगर भारत खूंखार आतंकी संगठनों जैश-ए-मुहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के खिलाफ सैन्य कार्रवाई करके उनका खात्मा कर देता है।’

ट्वीट में अहमद वकास ने आगे लिखा है- ‘ये आतंकवादी हमारे मासूब बच्चों को अपने खूंखार सगंठनों में भर्ती करते हैं और जनरल इन आतंकवादियों की रक्षा करते हैं।’

यहां पर बता दें कि अहमद वकास मूलरूप से पाकिस्तान के रहने वाले हैं और फिलहाल नीदरलैंड में नौकरी कर परिवार का भरण-पोषण करते हैं।

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद
जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान का एक (जिहादी) आतंकी संगठन है, जिसका प्रमुख उद्देश्य भारत से कश्मीर को अलग करना है। इसके अलावा यह संगठन पश्चिमी देशों में भी आतंक फैलाने का काम करता है। इस संगठन की स्थापना पाकिस्तान के पंजाब के मौलाना मसूद अजहर ने साल 2000 के मार्च महीने में की थी। आपको बता दें कि साल 1999 में कंधार विमान अपहरण में भी इसी संगठन के नेता मौलाना मसूद अज़हर को छुड़ाने के लिए किया गया था। जिसके बाद अजहर ने इस आतंकी संगठन की नींव रखी। इस आतंकी संगठन में हरकत-उल-अंसार और हरकत-उल-मुजाहिदीन के कई आतंकी शामिल हैं। इस संगठन का मुखिया मौलाना मसूद अज़हर खुद भी हरकत-उल-अंसार का महासचिव रह चुका था।