Home उत्तरप्रदेश देश को संकट में डाल रही है कांग्रेस, घोषणापत्र इसका उदाहरण: योगी...

देश को संकट में डाल रही है कांग्रेस, घोषणापत्र इसका उदाहरण: योगी आदित्यनाथ

1094
SHARE

काशीपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस देश को संकट में डाल रही है। पार्टी का घोषणापत्र इसका उदाहरण है। कांग्रेस के कारण ही देश का दुर्भाग्यपूर्ण विभाजन हुआ। इसके लिए मुस्लिम लीग व कांग्रेस का गठजोड़ जिम्मेदार था। आज राहुल गांधी वायनाड से नामांकन कर रहे हैं और वहां भी कांग्रेस का मुस्लिम लीग से गठबंधन है। ये देश को कहां ले जाएगा ये चिंता का विषय है। कांग्रेस देश के लिए खतरा बनती जा रही है।

काशीपुर में आयोजित जनसभा में उन्होंने कहा कि कांग्रेस कैसा माहौल पैदा करना चाहती है। उसका चुनावी घोषणापत्र इसका उदाहरण है। इसमें सेना को कमजोर करने की बात है। आतंकवाद, नक्सलवाद के बावजूद कांग्रेस को वोट बैंक की चिंता है। देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है।

देश में एक ही नारा है-मोदी-मोदी। इस देश को प्रधानमंत्री मोदी चाहिए। भारत का हर नागरिक मोदी के साथ खड़ा है। कांग्रेस को गरीब, मजदूर, किसान की चिंता नहीं है। कभी परिवार, कभी जाति, कभी क्षेत्र के नाम पर लोगों को भड़काते हैं।

योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र को 55 वर्षों की नाकामी का दस्तावेज बताया। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि विपक्ष ने 55 पन्नों के घोषणा पत्र से देश को तोड़ने का काम किया है। ऐसी पार्टी को जनता सत्ता में लाने के नाम से भी कतरा रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में देश के 270 जिले उपद्रव से ग्रसित थे। प्रधानमंत्री मोदी के सत्ता में आने के बाद आज सिर्फ पांच-छह जिले ही ऐसे हैं। मोदी को ध्यान में रख मतदान करने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को एक मौका और दें।

उन्होंने कहा कि हर नामुमकिन काम को मोदी ने मुमकिन कर दिखाया है। काशीपुर के रामलीला मैदान में वह सांसद प्रत्याशी अजय भट्ट के समर्थन में जनता को संबोधित कर रहे थे। यूपी के सीएम आदित्यनाथ ने अपने 25 मिनट के संबोधन में कांग्रेस को चारों तरफ से घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का जवान देश की रक्षा के लिए अपनी जवानी की आहुति देता है। आवश्यकता पड़ने पर बलिदान देने से भी नहीं कतराता है। ऐसे में कांग्रेस देशद्रोह और आर्म्ड फोर्स स्पेशल पावर एक्ट (अफस्पा) को हटाने की बात कर रही है।

उन्होंने आतंकवाद, नक्शलवाद, और देश की सुरक्षा पर कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि 55 वर्षों से देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने वाली पार्टी को उखाड़ फेंकने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री मोदी के सत्ता में आने के बाद देश ने दोबारा आजादी की सांस ली है। ऐसे यशयश्वी नेता पर विपक्ष कीचड़ उछालने का काम कर रहा है।

उन्होंने केंद्र सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए प्रधानमंत्री द्वारा सबका साथ सबका विकास करने के नारे को जीवंत बताया। कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के युवा, जवान, किसान, गरीब, माताओं, बहनों को ध्यान में रखते हुए जनकल्याणकारी योजनाएं लागू की हैं।

कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में सौ से ज्यादा आतंकी घटनाएं देश में हुईं। इनमें नौ से ज्यादा लोग जान से हाथ धो बैठे। पाकिस्तान के आतंकवादी सीमा पर जवानों का सिर काट ले जाते थे और कांग्रेस उन पर फायर तक नहीं करने देती थी। उन्होंने उरी और पुलवामा में हुई आतंकी घटनाओं के बाद सेना द्वारा पाकिस्तान में की गई कार्रवाई से जनता को साधने की कोशिश की।

इस मौके पर पूर्व सांसद बलराज पासी, रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल, किच्छा विधायक राजेश शुक्ला, आशीष गुप्ता, नरेंद्र मानस, खिलेंद्र चौधरी, मोहन बिष्ट, मेयर ऊषा चौधरी, गणेश बाल्मीकि, जसपुर पूर्व विधायक डॉ. शैलेंद्र मोहन सिंघल, दान सिंह रावत, लवीश अरोरा आदि मौजूद रहे।