Home अपना उत्तराखंड शादी के 3 महीने बाद, दहेज़ के लिए बेटी की हत्या…

शादी के 3 महीने बाद, दहेज़ के लिए बेटी की हत्या…

1195
SHARE

सवाल ये है कि क्या उत्तराखंड में दहेज का दानव लगातार पैर पसार रहा है? एक और बेटी की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई है। बेटी के पिता ने जिस तरह के आरोप लगाए हैं, ुनसे कई बातें सामने निकलकर आ रही हैं। अभी तीन महीने भी नहीं हुए थे शीतल की शादी को…पिता ने उसे लाड़-प्यार से ससुराल के लिए विदा किया था…शादी को वो तस्वीर शीतल की आखिरी तस्वीर थी, जिसमें वो मुस्कुराती दिख रही है…इसके बाद तो उसे कभी हंसने का मौका ही नहीं मिला। शादी को अभी तीन महीने भी नहीं हुए थे कि एक दिन पता चला कि परिवार की लाडली कोमा में है और अस्पताल में भर्ती है, ये सुनते ही परिवार पर मानों दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, परिवारवाले उसके बचने की दुआएं कर रहे थे, लेकिन दुआएं भी काम ना आईं। 6 दिन तक कोमा में रहने के बाद शीतल की मौत हो गई।

शीतल के पिता ने उसके ससुराल वालों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है। मामला देहरादून के नेहरू कॉलोनी क्षेत्र का है, जहां नवविवाहिता की 6 दिनों तक कोमा में रहने के बाद महंत इंद्रेश हॉस्पिटल में मौत हो गई। शीतल के पिता सुखपाल का आरोप है कि शादी में सब कुछ देने के बाद भी शीतल का पति मनप्रीत उससे बुलेट के साथ-साथ दहेज देने की मांग कर रहा था। शीतल मानसिक रूप से परेशान थी। ससुराल वाले उसे बुरी तरह पीटते भी थे। शीतल की शादी 28 जनवरी को मनप्रीत के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही पति मनप्रीत और ससुरालवाले उसे दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे। शीतल के पिता का आरोप है कि 14 अप्रैल को ससुराल वालों ने शीतल के खाने में जहर मिला दिया, जिसके बाद शीतल की हालत बिगड़ गई। उसे महंत इंद्रेश अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

अस्पताल में 6 दिनों तक कोमा में रहने के बाद उसकी मौत हो गई। शीतल के पिता की शिकायत पर पुलिस ने मृतका के पति, सास, भाई सहित 2 बहनों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी मनप्रीत की दोनों बहनें स्वीटी और प्रीति पुलिस महकमे में काम करती हैं, दोनों पर ही दहेज प्रताड़ना का आरोप लगा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है, लेकिन बड़ा सवाल ये है कि आखिर कब तक दहेज के लिए बेटियों की बलि दी जाती रहेगी। शादी के तीन महीने पूरे होने से पहले ही शीतल ये दुनिया छोड़ कर चली गई, इसका सीधा मतलब ये है कि उसके साथ कुछ तो बुरा हो रहा था…बहरहाल पुलिस की जांच जारी है…उम्मीद है शीतल तो जल्द इंसाफ मिलेगा। साथ ही ये पता लगाना भी जरूरी है कि क्या वास्तव में दहेज ने एक और बेटी की जान ले ली?