Home उत्तराखंड CIMS&UIHMT ग्रुप ऑफ कॉलेज देहरादून ने धूमधाम से मनाया अपना 21वां स्थापना...

CIMS&UIHMT ग्रुप ऑफ कॉलेज देहरादून ने धूमधाम से मनाया अपना 21वां स्थापना दिवस, डीजीपी उत्तराखण्ड ने छात्र-छात्राओं को दिलाई नशे से दूर रहने की शपथ…

19
SHARE

देहरादून के कुआंवाला स्थित CIMS & UIHMT ग्रुप ऑफ कॉलेज एवं सजग इंडिया का 21वां स्थापना दिवस आयोजित किया गया। कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं ने विभिन्न रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर सबका मन मोहा। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अशोक कुमार, श्रीदेव सुमन विश्व विद्यालय के कुलपति डॉ. पी.पी.ध्यानी द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया।

कॉलेज के 20 वर्ष के सफर पर प्रकाश डालते हुए संस्थान के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने बताया कि हमारे संस्थान सी.आई.एम.एस. कॉलेज को आज नर्सिंग एवं पैरामेडिकल के क्षेत्र में उच्च शिक्षा एवं चिकित्सा शिक्षा प्रदान करते हुए 21 वर्ष हो चुके हैं। अब तक पूरे देश-विदेश एवं प्रदेश में हजारों छात्र-छात्राएं चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में अपना योगदान दे रहे हैं, जो कि पूर्ण रूप से अनुशासित एवं संस्कार युक्त गुणों को आत्मसात करते हुए आगे बढ़ रहे हैं।

हमारे संस्थान द्वारा कोरोना काल में अनाथ एवं असहाय हुए 100 छात्र-छात्राओं को नि:शुल्क उच्च शिक्षा भी प्रदान की जा रही है। एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने बताया कि हम बीते 20 वर्षों से सजग इंडिया के माध्यम से समाज में नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान भी चला रहे हैं। उन्होंने बताया कि 12 जून 2000 को हल्द्वानी के एम.बी.इण्टर में कक्षा 9 में अध्ययन के दौरान ही आस-पास के स्कूलों एवं शिक्षण संस्थानों में नशे के खिलाफ जन-जागरूकता अभियान आरम्भ किया जो आज 2022 तक निरन्तर “नशे को ना, जिंदगी को हां” (युवाओं की दशा एवं दिशा, आतंक का हथियार नशा) युवा संवाद के माध्यम से पूरे उत्तराखण्ड के 13 जिलों में संचालित किया जा रहा है जिसे आने वाले समय में देश के अन्य राज्यों में भी युवा संवाद के माध्यम से चलाया जाएगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश के मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने छात्र-छात्राओं को संस्थान के 21वें वार्षिकोत्सव की शुभकामनाएं दी, उन्होंने छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि मेडिकल के क्षेत्र में नवाचार का प्रयोग करते हुए ज्ञान का उपयोग मानव कल्याण के लिए होना चाहिए। साथ ही कहा कि हेल्थ वर्कर्स की क्या भूमिका है, यह कोरोना काल में हम सबने भली-भांति देख लिया है। उन्होंने छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि वह जहां भी जाएं सेवा भाव से अपने माता-पिता, गुरुजनों व संस्थान का नाम रोशन करें।

कार्यक्रम में डीजीपी उत्तराखण्ड अशोक कुमार ने छात्र-छात्राओं को नशे के खिलाफ जंग में धूम्रपान व अन्य किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पादों का सेवन ना करने की शपथ दिलाई। साथ ही सजग इंडिया द्वारा नशे के खिलाफ बीते 20 वर्षों से चलाए जा रहे अभियान की सराहना करते हुए कहा कि आपका यह अभियान समाज को नई दिशा दिखाने का कार्य करेगा।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में डोईवाला विधायक ब्रिज भूषण गैरोला, श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी.पी. ध्यानी, अपर निदेशक चिकित्सा शिक्षा निदेशालय उत्तराखण्ड आशुतोष सयाना, रजिस्ट्रार उत्तराखण्ड नर्सेज एंड मिडवाइव्ज काउंसिल उत्तराखण्ड राम कुमार शर्मा, चेयरमैन सी.एम.आई. हॉस्पिटल देहरादून डॉ. महेश कुडियाल, निदेशक कैलाश हॉस्पिटल देहरादून पवन शर्मा, निदेशक सी.ए, संयुक्त निदेशक विधि एडवोकेट गिरीश चन्द्र पंचौली, महानिदेशक (यूकोस्ट) राजेन्द्र डोभाल, महाप्रबन्धक (एच.आर) ब्रिडकुल अनूप कुमार, निदेशक (यू.एस.ए.आर.) यूसर्क अनिता रावत, श्रीदेव सुमन यूनिवर्सिटी के कुलसचिव खेम राज भट्ट, पंडित मुन्नालाल नौटियाल ज्योतिषआचार्य, दून मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के वरिष्ठ जन संपर्क अधिकारी महेन्द्र भंड़ारी, सी.आई.एम.एस.& यू.आई.एच.एम.टी. के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी, संस्थान के मैनेजिंग डॉयरेक्टर संजय जोशी, डॉयरेक्टर केदार सिंह अधिकारी, कॉलेज की प्रधानाचार्या गुरप्रीत सैनी सहित 800 छात्र- छात्राएं और शिक्षकगण मौजूद रहे।