Home उत्तराखंड नशा राष्ट्र एवं समाज के विनाश का कारक – ललित जोशी, टिहरी...

नशा राष्ट्र एवं समाज के विनाश का कारक – ललित जोशी, टिहरी गढ़वाल के दूरस्थ क्षेत्र रगड़गांव के छात्र-छात्राओं ने लिया नशामुक्त उत्तराखंड बनाने का संकल्प…

64
SHARE

मानवाधिकार संरक्षण एवं भ्रष्ट्राचार निवारक समिति के बैनर तले सजग इंडिया के तहत नशे के खिलाफ चलाए जा रहे जन-जागरूकता अभियान को जारी रखते हुए आज मानवाधिकार संरक्षण एवं भ्रष्ट्राचार निवारक समिति के अध्यक्ष ललित मोहन जोशी ने टिहरी गढ़वाल जनपद के दूरस्थ क्षेत्र राजकीय इण्टर मीडिएट कॉलेज रगड़गांव जौनपुर टिहरी गढ़वाल के विद्यार्थियों से संवाद किया। उन्होंने युवाओं को नशे के दुष्प्रभावों से अवगत कराते हुए कहा कि किसी भी तरह का नशा इंसान को शारीरिक मानसिक से कमजोर करता है। जिस देश का युवा नशे की गिरफ्त में होगा फिर उस देश के लिए एक समृद्ध राष्ट्र की कल्पना नहीं की जा सकती। उन्होंने आगाह किया कि आज कुछ विदेशी ताक़तें हमारे देश के युवाओं को नशा रूपी जाल में फँसाना चाहते हैं, जिससे कि वह हमारे देश के युवाओं को उनके लक्ष्य से भटकाकर देश की जड़ों को कमजोर कर सकें। उन्होंने बताया कि आतंकवाद को सबसे ज़्यादा फंडिंग नशे के कारोबार से होती है। जाने- अनजाने में नशा करने वाले युवा आतंकवाद को बढ़ावा देते है। अतः हम सब को नशा मुक्त समाज के निर्माण का संकल्प लेना चाहिये। उन्होंने विद्यार्थियों से अपने माता-पिता व गुरूजनों द्वारा बताई गई बातों का अनुकरण कर उन्हें जीवन में अपनाने की अपील की।

ललित जोशी ने राज्य स्तरीय क्विज प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली राजकीय इण्टर मीडिएट कॉलेज रगड़गांव की टीम को सम्मानित भी किया। और इस दौरान घोषणा की कि क्विज प्रतियोगिता की विजेता टीम के सदस्यों सहित इस स्कूल के 10 छात्र-छात्राओं को वह अपने शिक्षण संस्थान सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुफ ऑफ कॉलेज देहरादून में मिशन एजुकेशन स्कीम के तहत निशुल्क उच्च शिक्षा प्रदान करेंगे। इस दौरान राज्यस्तरीय क्विज प्रतियोगिता के राज्य समन्वयक देवानन्द देवली, व देहरादून जिला समन्वयक डॉ. एस. एस. राणा उपस्थित रहे तथा इस दौरान संस्थान के 300 छात्र छात्राओं ने नशा मुक्त रहने की प्रतिज्ञा भी ली।

बता दें कि मानवाधिकार संरक्षण एवं भ्रष्टाचार निवारक समिति के अध्यक्ष एडवोकेट ललित मोहन जोशी विगत 15 से अधिक वर्षों से नशे के खिलाफ जन-जागरूकता अभियान चला रहे हैं। इस दौरान वह प्रदेश भर में 7 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं से सजग इंडिया के माध्यम से युवा संवाद कार्यक्रम के माध्यम से सीधा संवाद कर चुके हैं।