Home अपना उत्तराखंड देहरादून 12 साल के मासूम के लिए मौत का फंदा बन गया कुत्ते...

12 साल के मासूम के लिए मौत का फंदा बन गया कुत्ते के गले का फंदा…..

126
SHARE

देहरादून के मेहूवाला क्षेत्र से एक बेहद दुखद घटना सामने आई जहां छोटी बहन के साथ खेलते 12 साल के मासूम के लिए कुत्ते के गले का पट्टा मौत का फंदा बन गया। बच्चे ने यह पट्टा दरवाजे के ऊपर से फेंका तो इसका एक छोर कुंडे में अटक गया। दूसरा छोर (कुत्ते के गले वाला) उसने अपने गले में पहन लिया। आशंका है कि बच्चे का पैर फिसला और इससे फांसी लग गई। घटना के वक्त बच्चे के माता-पिता घर पर नहीं थे।

मेहूंवाला निवासी कुलदीप गुरुवार को ऑटो चलाने के लिए निकल पड़े। जबकि, उनकी पत्नी शाम को बाजार चली गई। घर पर उनका 12 वर्षीय बेटा कार्तिक और दस साल की बेटी मौजूद थी। दोनों डॉगी के पट्टे से खेल रहे थे। इस बीच, अचानक कार्तिक ने पट्टा बेडरूम के दरवाजे के ऊपर फेंका, जिसका एक हिस्सा दरवाजे के दूसरी ओर कुंडे में अटक गया, वहीं दूसरा हिस्सा कार्तिक के गले में फंसा और वह फंदे पर झूल गया।

छोटी बहन ने फंदा खोलने की कोशिश की लेकिन इसमें नाकाम होने पर पड़ोस के लोगों को बुलाया। लोगों ने बच्चे को फंदे से उतारकर अस्पताल पहुंचाया, लेकिन डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। अस्पताल से सूचना मिलने पर पुलिस मोर्चरी पहुंची। बच्चे का शव देखने के बाद घटनास्थल का निरीक्षण किया। मामले को गंभीर मानते हुए शुक्रवार को पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।