Home उत्तराखंड श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी. पी. ध्यानी के खिलाफ...

श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी. पी. ध्यानी के खिलाफ शिकायतों को राज्यपाल ने किया खारिज…

15
SHARE

श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी.पी. ध्यानी की शैक्षणिक योग्यता, प्रशासनिक अनुभव एवं वेतनमान विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के मानकों तथा राज्य सरकार के नियमों के अनुरूप, कुलपति के पद पर न होने सम्बन्धी आरोप लगाते हुए आर्यन छात्र संगठन ने शिकायत दर्ज की थी। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने इन आरोपों की जांच के आदेश दिए थे।

शिकायतकर्ता की शिकायत को प्रभारी सचिव, उच्च शिक्षा उत्तराखण्ड शासन द्वारा राजभवन को नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु प्रेषित किया गया था। राजभवन द्वारा सम्यक परीक्षणोपरान्त शिकायतकर्ता के प्रत्यावेदनों को मा. राज्यपाल/कुलाधिपति ने अपने आदेश दिनांक 23.08.2022 द्वारा बलहीन पाकर निक्षेपित/खारिज कर दिया है।

राज्यपाल के इस फैसले पर डॉ. पी.पी. ध्यानी ने राज्यपाल का आभार व्यक्त किया।  उन्होंने कहा कि सत्य की हमेशा जीत होती है, जब से वह, श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति बने हैं, उन्होंने विश्वविद्यालय में एक भी अनैतिक कार्य, विश्वविद्यालय अधिनियम एवं परिनियम के विरूद्ध, नहीं किया है, भले ही कुछ विरोधियों ने सांठ-गांठ कर उनकी प्रतिष्ठा को धूमिल करने का हर संभव प्रयास किया।

डाॅ. ध्यानी ने कहा कि उन्होंने हमेशा योग्यता का सम्मान किया है और वह नियम-कानूनों के अनुसार कार्य करते हैं। विरोधी तो विरोध करते हैं, षडयन्त्र रचते हैं, गिरोह बनाते हैं, लेकिन ऐसे व्यक्ति/ गिरोह सत्य को असत्य में कभी भी नहीं बदल सकते, हमेशा सत्य की जीत होती है और न्याय होता है। डाॅ. ध्यानी ने कहा कि राज्यपाल के निर्णय से मेरी प्रतिष्ठा एवं कार्यशैली में वृद्धि हुई है और मेरी कार्य के प्रति उत्पादकता भी बढ़ी है।