Home खास ख़बर सिद्धू ने फिर दिया विवादित बयान, अब कह दी ऐसी बात, कांग्रेस...

सिद्धू ने फिर दिया विवादित बयान, अब कह दी ऐसी बात, कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा

737
SHARE

जाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने शांति अपील की है लेकिन अंदाज इमरान खान का बचाव करनेवाला है। इसमें पाक प्रायोजित आतंकवाद की चर्चा नहीें है।

चंडीगढ़:

भारत पाक के बीच बढ़े हुए तनाव के बीच पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार अपने बयान से विवाद खड़ा कर लिया है। मौका मिलते ही ‘गुरु’ सिद्धू एक बार फिर अपने ‘दिलदार यार’ इमरान खान के अंदाज शुरू हो गए। पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने की घोषणा के बाद सिद्धू ने पहले उनकी (इमरान) तारीफ में ट्वीट किया। इसके बाद उन्होंने दो पेजों की शांति अपील जारी की, लेकिन इसमें पाकिस्‍तान प्रायोजित आतंकवाद की चर्चा तक नहीं की है। दूसरी आेर, कांग्रेस ने सिद्धू के बयान से पल्‍ला झाड़ लिया है।

सिद्धू ने एक बार फिर अपने ‘दिलदार यार’ इमरान खान के कसीदे गढ़े, बातचीत की वकालत की
इसके साथ ही सिद्धू ने एक बार फिर विवादित बयान से कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। इसके साथ ही वह फिर पाकिस्तान से बातचीत की फिर वकालत नजर आ। उन्‍होंने भारतीय पायलट अभिनंदन की रिहाई के लिए इमरान खान का धन्यवाद भी किया और ट्वीट कर उनकी जमकर तारीफ की। दूसरी तरफ कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने उनके बयान से पल्ला झाड़ते हुए इसे उनकी निजी राय बताया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा माहौल में पार्टी पाक से बातचीत के पक्ष में नहीं है।

सिद्धू ने अपनी शांति अपील में नहीं की पाकिस्‍तान प्रायोजित आतंकवाद की चर्चा

सिद्धू ने कहा है कि मैं उन नेताओं के खिलाफ खड़ा हूं जो मतभेदों का गला घोंटने पर तुले हैं। बहस को शांत कराने के लिए साइबर सेना और गुंडों की बैसाखी के सहारे राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने ऐसा तब कहा है जब पूरा देश इस समय पाकिस्तान व उसके द्वारा फैलाए जा रहे आतंकवाद के खिलाफ खड़ा है। सिद्धू ने दो पेजों की अपील जारी कर डर के खिलाफ खड़े होने की वकालत की है, लेकिन गौरी लंकेश, रोहित वेमुला, गोविंद पंसारे, एमएम कलबुर्गी, एएसआइ रविंद्र सिंह और नजीब जैसे लोगों की उदाहरण देकर नई राह पकड़ ली है। इससे नया विवाद शुरू होने की संभावना है। ऐसे में सिद्धू एक बार फिर निशाने पर आ सकते हैं।

गौरी लंकेश, रोहित वेमुला आदि की चर्चा कर पैदा किया नया विवाद

नवजोत सिद्धू ने अपनी पूरी अपील में एक बार भी पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद पर कोई बात नहीं की। इससे पहले भी जब पुलवामा में हमला हुआ था तो उन्होंने विवादित बयान देकर हंगामा करवा दिया था। उस समय सिद्धू ने कहा था कि आतंकवाद का कोई देश नहीं होता और कुछ लोगों की करतूत के लिए किसी देश को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। इसके विपरीत यह खुली सच्चाई है कि पाकिस्तान की सेना वहां आतंकियों को पूरी शह ही नहीं देती, बल्कि उन्हें हथियार, ट्रेनिंग आदि भी मुहैया करवाती है।

सिद्धू के विरोधियों और राजनीतिक जानकारों का कहना है कि इमरान खान के पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने के बाद से सिद्धू का बयान पाकिस्तान और उनका (इमरान) का बचाव करने वाले होते हैं। कमाल की बात यह है कि आज अपील में जिस तरह की भाषा सिद्धू ने इस्‍तेमाल की है  करीब-करीब वैसी ही इमरान खान अपनी स्पीच में इन दिनों दे रहे हैं।