Home अपना उत्तराखंड रेस्टोरेंट संचालिका की गोलियों मार कर की हत्या…

रेस्टोरेंट संचालिका की गोलियों मार कर की हत्या…

1005
SHARE

तलाक के बाद एक कारोबारी के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रही महिला की कार सवार युवकों ने देहरादून की सहस्त्रधारा रोड पर अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी। जिसमें महिला की मौत हो गई। मंगलवार रात मारी गई समरजहां उर्फ रिहाना से रिश्तों को लेकर दवा कारोबारी राकेश कुमार गुप्ता के परिवार में भी कड़वाहट चल रही थी।

पारिवारिक इसी किचकिच में गुप्ता अपनी प्रेमिका को लेकर दून आ गया था। जांच में यह तथ्य आने के बाद पुलिस ने दवा कारोबारी से पूछताछ की। यह भी पता चला कि गुप्ता मंगलवार दोपहर बाद मुजफ्फरनगर से देहरादून आया था।पुलिस को समरजहां की हत्या की जांच में कई चौंकाने वाली बात सामने आई है। प्रथम दृष्टया वारदात के तार मुजफ्फरनगर से जुड़ते नजर आ रहे हैं।

दवा कारोबारी राकेश कुमार गुप्ता की पत्नी मुजफ्फरनगर में रहती है, जिसके दो बेटे हैं। इनमें से एक बेटा मां के साथ रहता है। जबकि दूसरा देहरादून में फैमिली रेस्टोरेंट चलाता है। गुप्ता और समरजहां के रिश्तों को लेकर परिवार में विवाद था। इस बात को लेकर कई बार परिवार के लोग अपना विरोध जता चुके थे। पुलिस का कहना है कि झगड़ों के चलते गुप्ता प्रेमिका समरजहां को देहरादून ले आया था। गुप्ता समरजहां के लिए बुटीक सेंटर खोलने वाला था।

पुलिस ने देर रात दवा कारोबारी राकेश कुमार गुप्ता को बुलाकर समरजहां से रिश्तों और पारिवारिक विवाद को कई सवाल किए। गुप्ता से समरजहां के पहले पति के बारे में भी जानकारी ली गई। एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। पुलिस तमाम संभावनाओं पर काम कर रही है। गुप्ता के बयानों को भी तस्दीक कराने के साथ शक के दायरे में आए लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

महिला समरजहां की हत्या करने वाले बदमाशों की संख्या से दो से तीन हो सकती है। घटनास्थल पर अंधेरा होने के कारण कोई बदमाशों का हुलिया नहीं बता सका है। पुलिस के मुताबिक हत्यारोपियों को समरजहां को लेकर पूरी जानकारी थी। जाहिर है कि वारदात को अंजाम देने से पहले पूरी रैकी की गई होगी। ऐसे में कत्ल की वारदात में भाड़े के हत्यारों का इस्तेमाल होने से पुलिस इंकार नहीं कर रही है।

पुलिस को सहस्त्रधारा रोड स्थित घटनास्थल से पांच खोखे बरामद किए है। एफएसएल की टीम ने जांच पड़ताल के बाद बरामद खोखे .32 बोर के होने की पुष्टि की है। जाहिर है कि बदमाशों ने हत्या में पिस्टल का प्रयोग किया है।