Home अपना उत्तराखंड देहरादून धामी सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा, मुख्यमंत्री ने बताई एक...

धामी सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा, मुख्यमंत्री ने बताई एक साल की उपलब्धियां…..

111
SHARE

राज्य की धामी सरकार को आज एक वर्ष पूरे हो गए, इस अवसर पर जिलों से लेकर ब्लॉक स्तर तक कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। सीएम धामी द्वारा देहरादून में सूचना एवं लोकसम्पर्क विभाग उत्तराखण्ड द्वारा प्रकाशित पुस्तिका एक साल नई मिसाल का विमोचन किया। एक साल नई मिसाल में संकल्प नए उत्तराखण्ड का के तहत राज्य सरकार की उपलब्धियों को दर्शाया गया है।

प्रदेश की मातृ शक्ति के हितों की रक्षा के लिए राज्य सरकार की नौकरियों में महिलाओं के लिए 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण।

लखपति दीदी योजना में वर्ष 2025 तक प्रदेश की 1.25 महिलाओं को लखपति बनाने की पहल।

राज्य आंदोलनकारियों को 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण का निर्णय।

चारधाम और कांवड यात्रा में कुशल प्रबंधन से रिकॉर्ड संख्या में आए श्रद्धालु।

केदारनाथ धाम और बदरीनाथ धाम की तर्ज पर मानसखंड मंदिर माला मिशन के अंतर्गत कुमाऊं के पौराणिक और प्राचीन मंदिर क्षेत्रों में अवस्थापनात्मक विकास।

वोकल फॉर लोकल के अंतर्गत स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए एक जिला दो उत्पाद योजना।

स्टेट मिलेट मिशन, मंडुआ की न्यूनतम समर्थन कीमत 3574 रूपए प्रति क्विंटल पर खरीद।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने में उत्तराखण्ड अग्रणी राज्य। प्रदेश के राजकीय विद्यालयों के प्रतिभावान छात्रों के लिए मुख्यमंत्री मेधावी छात्रवृत्ति योजना।

टेलीमेडिसिन के लिए 400 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 04 मेडिकल कॉलेज से जोड़ा गया।

06 एरोमा वैली विकसित करने की योजना। 50 हजार पॉलीहाउस से बदलेगी उद्यानिकी की तस्वीर, इसके लिए बजट में 200 करोड़ रूपए का प्रावधान।

मिशन दालचीनी, मिशन तिमरू प्रारंभ करने का निर्णय।

नई खेल नीति से प्रदेश के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन, खेल अवस्थापनात्मक सुविधाओं का विकास।

उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखण्ड लॉजिस्टिक नीति, प्राइवेट इंडस्ट्रियल एस्टेट पॉलिसी।

मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना में सब्सिडी बढ़ाकर 40 प्रतिशत की।

नई पर्यटन नीति में स्वरोजगार को बढ़ावा, 100 प्रतिशत तक सब्सिड़ी का प्रावधान।

भर्ती माफिया पर कड़ा प्रहार, देश का सबसे सख्त नकल विरोधी कानून।

जबरन और प्रलोभन से धर्मांतरण पर रोक के लिए सख्त कानून।

समान नागरिक संहिता के लिए मजबूती से बढ़े कदम।

अंतोदय परिवारों को साल में 3 गैस रिफिल नि:शुल्क।

मल्टी मॉडल कनेक्टविटी –

केदारनाथ, बदरीनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री के साथ ही टनकपुर-पिथौरागढ़ की सड़क कनेक्टिविटी में सुधार के लिए चारधाम ऑलवेदर परियोजना पर तेजी से काम गतिमान।

दिल्ली-देहरादून एलिवेटेड रोड़, नजीबाबाद-अफजलगढ़ बाईपास के साथ ही सितारगंज से टनकपुर मोटरमार्ग को चार लेन में परिवर्तित करने की स्वीकृति।

केन्द्र सरकार से पौंटा साहिब-देहरादून, बनबसा-कंचनपुर, भानियावाला-ऋषिकेश, काठगोदाम -लालकुंआ-हल्द्वानी बाईपास और रूद्रपुर बाईपास परियोजनाओं की महत्वपूर्ण सौगात।

ऋषिकेश -कर्णप्रयाग रेल परियोजना पर तेजी से काम गतिमान।

गौरीकुण्ड़ – केदारनाथ और गोविंदघाट-हेमकुंड साहिब रोपवे का शिलान्यास प्रधानमंत्री जी द्वारा किया गया। पर्वतमाला परियोजना पर तेजी से काम गतिमान।

उत्तराखण्ड के ग्रामीण क्षेत्रों में भारत सरकार द्वारा 1202 मोबाइल टावर की स्वीकृति।