Home उत्तराखंड महिला अपराध और नशे से जागरूक करने हेतु नैनीताल जिला प्रशासन ने...

महिला अपराध और नशे से जागरूक करने हेतु नैनीताल जिला प्रशासन ने स्कूली बच्चों को दिखाई शार्ट फिल्म, बच्चों को सोशल मीडिया से दूर रहने की दी सलाह….

12
SHARE

जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल के निर्देशन में जिले में चलाए जा रहे महिला अपराध और नशे से जागरूक करने के अभियान के तहत लगातार जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसी क्रम में पोक्सो एक्ट, बढ़ते हुए नशे से दूर रहने व महिला सुरक्षा के बारे में जागरूक करने के लिए विभिन्न स्कूलों व कालेजों में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

शुक्रवार को सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रश्मि पंत व जिला प्रोबेशन अधिकारी व्योमा जैन द्वारा संयुक्त रूप से के वी एम पब्लिक स्कूल, मुखानी के लगभग 200 छात्र- छात्राओं को जागरूक किया गया। इस अवसर पर उपस्थित विद्यार्थियों को गलत व सही स्पर्श (गुड़ व बैड टच) व प्रेरणास्त्रोत के रूप में शार्ट फ़िल्म दिखाई गई। शॉर्ट फ़िल्म के जरिये दिखाया गया कि किस प्रकार अनजान व परिचित व्यक्ति द्वारा भौतिक वस्तुओं के प्रलोभन से बच्चों को अपनी ओर आकर्षित किया जाता है। कुचक्र में फंसाकर दुराचार का प्रयास किया जाता है। फ़िल्म दिखाने का सीधा मकसद कहे तो बच्चों को सही व गलत का ज्ञान होना जरूरी है। जिससे किसी व्यक्ति द्वारा गलत दुर्भावना का प्रयास करने पर बच्चे में न कहने का साहस कर सके व उस स्थल से भागकर विश्वसनीय व्यक्ति को घटना के बारे में बताना है जिससे दुराचारी व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही हो सके व उसके प्रयास को कुचला जा सके।

 

बच्चों को सम्बोधित करते सिटी मजिस्ट्रेट ने उन्हें नशे से दूर रहने के लिए अपनी शैक्षिक गतिविधियों के साथ ही रुचियों पर कार्य करने को कहा। कहा कि अपने खाली समय में अपने शौक( खेलना, नाचना, गाना, कला आदि) को पूरा करें जिससे शरीर की ऊर्जा सकारात्मक दिशा में ही कार्य करें। उन्होंने सोशल मीडिया साइट्स फ़ेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर आदि से दूर रहने की सलाह भी दी। कहा कि आज के सूचना प्राद्योगिकी के युग मे इंटरनेट का सही इस्तमाल कर आप विभिन जानकारी लेकर अपने जीवन को सफल बना सकते हो।

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ रश्मि पंत ने बच्चों को किशोरावस्था में होने वाले बदलाव की जानकारी दी। प्रोबेशन अधिकारी व्योमा जैन ने साइबर सेक्युरिटी, हेल्पलाइन नम्बर 1098, 112 आदि की विस्तार से जानकारी दी। इसके साथ ही बच्चों को नशे से दूर रहने की प्रतिज्ञा दिलाई गई व उन्हें अन्य लोगों को भी नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित किया गया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षिका दीप्ति जोशी ने किया। इस अवसर पर विद्यालय की निदेशक कमलेश भंडारी, प्रधानाचार्य डॉ प्रवीन पन्त, मैनेजिंग डाइरेक्टर मंजुल भंडारी, शैक्षिक निदेशक रमेश चन्द्र व विद्यार्थी उपस्थित थे