Home उत्तराखंड देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले उत्तराखण्ड़ के पांच शहीद जवानों...

देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले उत्तराखण्ड़ के पांच शहीद जवानों के आश्रितों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा देगा सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज..

3
SHARE

सोमवार 8 जुलाई को जम्मू कश्मीर के कठुआ में सेना की गाड़ी पर हुए आतंकी हमले में उत्तराखण्ड के भी पांच जवान शहीद हो गए थे।

शहीदों को श्रद्दांजलि देते हुए सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज प्रबंधन ने यह निर्णय लिया कि के शहीदों के आश्रितों को अपने संस्थान में नि:शुल्क उच्च शिक्षा , ब्यवसायिक शिक्षा प्रदान करेंगे। यह कार्य उन शहीदों के प्रति संस्थान की और से एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। ग्रुप के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि देश इन जांबाजों के बलिदान को हमेशा याद रखेगा। उन्होंने कहा कि सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज सदैव शहीदों के परिवार के साथ खड़ा है, और उनके परिवारों की वह हरसंभव मदद करेगा इन शहीदों पर आश्रित उनके भाई-बहन , बच्चे अथवा शहीद की धर्मपत्नी अथवा परिजन सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज से उच्च शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, नि:शुल्क रूप में प्राप्त कर सकते हैं।

ललित जोशी ने कहा कि पूरा देश कीर्तिनगर ब्लॉक के थाती डागर निवासी राइफलमैन आदर्श नेगी, रुद्रप्रयाग निवासी नायब सूबेदार आनंद सिंह, लैंसडौन निवासी हवलदार कमल सिंह, टिहरी गढ़वाल निवासी नायक विनोद सिंह, रिखणीखाल निवासी राइफलमैन अनुज नेगी के साथ खड़ा है। इन शहीदों के आश्रितों के सपनों को साकार करने का हम हरसंभव प्रयास करेंगे। बुधवार को ललित जोशी ने शहीद नायक विनोद सिंह के डोईवाला के अठूरवाला स्थित आवास पहुंचकर अमर शहीद विनोद सिंह को श्रद्धांजलि दी व परिजनों को ढांढस बंधाया।

गौरतलब है कि सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज इससे पहले भी केदारनाथ आपदा प्रभावित, जोशीमठ आपदा प्रभावित, कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों, देश के लिए किसी भी मोर्चे पर शहीद हुए उत्तराखण्ड के जवानों के आश्रितों, राज्य आंदोलनकारियों के आश्रितों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा प्रदान कर रहा है। साथ ही प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के 300 छात्र-छात्राओं को मिशन एजुकेशन स्कीम के तहत शिक्षण शुल्क में छूट दी गई है।