Home अपना उत्तराखंड जश्न में डूबे लोग, भारतीय क्रिकेटर मनीष पांडे के गांव पहली बार...

जश्न में डूबे लोग, भारतीय क्रिकेटर मनीष पांडे के गांव पहली बार पहुंची केएमओयू की बस…

1659
SHARE

बागेश्वर: भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी मनीष पांडे के गांव भीड़ी पहली बार केएमओयू की बस पहुंची। बस पहुंचने की खुशी में गांव में जश्न का माहौल है और लोगों ने खुशी में मिठाई बांटी। जिला मुख्यालय से करीब 25 किमी दूर भीड़ी गांव की सड़क को लोनिवि ने दुरुस्त कर दिया है। अलबत्ता बस पहुंचने से करीब 300 गांव लाभांवित होंगे।
14 जुलाई को जिम्बांवे के खिलाफ पहला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच और 17 जुलाई 2015 को टी-20 मैच जिम्बाब्वे के खिलाफ खेलने के बाद भिड़ी गांव के क्रिकेटर मनीष पांडे का नाम क्रिकेट की दुनिया में उछला और वे वर्तमान में भारतीय क्रिकेटर हैं। उनके पैतृक गांव भिड़ी में गुरुवार से केएमओयू की बस सेवा शुरू हो गई है। पहली बार गांव बस पहुंचने से लोग खुशी में झूम गए और मिष्ठान भी वितरित किया। गांव के माधवानंद पांडे ने कहा कि लंबी प्रतीक्षा के बाद बस गांव पहुंची है। दफौट क्षेत्र के 300 गांवों के लोगों को इसका लाभ मिल सकेगा। लोग एक दिन में जिला मुख्यालय से लौटा-फेरी कर सकेंगे।

टैक्सियों की मनमानी होगी कम
बस संचालित होने से टैक्सियों की मनमानी पर रोक लग सकेगी। 25 किमी का भाड़ा टैक्सी वाले 100 रुपये एक तरफ का ले रहे थे। जबकि बस का एक तरफ का भाड़ा 50 रुपये होगा।

बस का यह रहेगा समय
बागेश्वर से दोपहर 2.30 बजे भिड़ी, गुरना को केएमओ की बस प्रस्थान करेगी। दूसरे दिन सुबह 7.15 बजे बस जिला मुख्यालय को रवाना होगी।

प्रतिदिन चलाई जाएगी बस 
धरणीधर जोशी, केएमओयू इंचार्ज, बागेश्वर ने बताया कि भिड़ी, गुरना गांव को बस का संचालन शुरू कर दिया गया है। यह बस रूटीन चलाई जाएगी और प्रशासन से भी बस संचालन को लगातार दबाव बना हुआ था।