Home अपना उत्तराखंड अब दून अस्पताल में भी होगा दिल का इलाज, हर शनिवार होगी...

अब दून अस्पताल में भी होगा दिल का इलाज, हर शनिवार होगी ओपीडी

771
SHARE

देहरादून: दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भी अब दिल का इलाज हो पाएगा। मैक्स अस्पताल दिल्ली के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. राहुल चंदोला दून अस्पताल में हर शनिवार ओपीडी करेंगे। अस्पताल में वह अपनी निश्शुल्क सेवाएं देगे।

दरअसल, वर्तमान में दून अस्पताल में कोई भी कार्डियोलॉजिस्ट तैनात नहीं है। एकमात्र कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. केबी जोशी का डेढ़ साल पहले स्थानांतरण हो गया था। तब से अस्पताल में किसी और कार्डियोलॉजिस्ट की तैनाती नहीं हुई है। दून अस्पताल में कार्डियोलॉजिस्ट तैनात नहीं होने से दिल के मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

अब यहां पर हृदय रोग की ओपीडी शुरू होने से मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी। बीमारी डायग्नोस होने के बाद मरीज अटल आयुष्मान उत्तराखंड के योजना के तहत सूचीबद्ध प्राइवेट अस्पताल में उपचार का लाभ ले पाएंगे। यही नहीं, दून अस्पताल में अब टीएमटी (ट्रेडमिल टेस्ट) की भी सुविधा शुरू कर दी गई है। जबकि ईको की सुविधा पहले से ही अस्पताल में उपलब्ध है। नया ओटी ब्लॉक शुरू होने के बाद यहां पर कार्डियक ओटी भी शुरू की जाएगी।

वरिष्ठ कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. चंदोला को मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने भ्रमण कराया। प्राचार्य ने बताया कि डॉ. चंदोला एक अनुभवी हृदय प्रत्यारोपण विशेषज्ञ है। वह सप्ताह में एक दिन, शनिवार को अस्पताल में निश्शुल्क सेवा देने को तैयार हैं।

कहा कि इससे निम्न व मध्यम वर्ग के मरीजों को लाभ मिलेगा। अस्पताल में कार्डियक सर्जरी के लिए भी तात्कालिक व्यवस्था बनाई जाएगी। इसके बाद मरीज को किसी अन्य जगह रेफर करने की जरूरत नहीं होगी। इस दौरान अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके टम्टा, वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. विजय भंडारी, जनसंपर्क अधिकारी महेंद्र भंडारी आदि भी मौजूद रहे।

महिला अस्पताल में गुड्डी-गुड्डा बोर्ड 

सुरक्षा व संवेदनशीलता के लिहाज से दून महिला अस्पताल प्रबंधन ने देर से ही सही, लेकिन अब अस्पताल में गुड्डी-गुड्डा बोर्ड लगा दिया है। यह बोर्ड लेबर रूम के बाहर लगाया गया है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके टम्टा ने खुद अपने स्तर से इसकी पहल की है। दरअसल, कई मर्तबा अस्पताल में बच्चा बदले जाने की शिकायतें मिलती हैं।

इन मामलों से निजात पाने के लिए अब लेबर रूम के बाहर बोर्ड लगा दिया गया है। इस बोर्ड पर प्रसव उपरांत महिला के नाम के आगे बच्चे का उल्लेख किया जाएगा। फरवरी तक हस्तांतरित करना होगा ओपीडी ब्लॉक दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के नए ओपीडी ब्लॉक का निर्माण कार्यदायी संस्था को इसी माह पूरा करना होगा।

स्वास्थ्य सचिव नितेश झा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कार्यदायी संस्था को सख्त ताकीद की गई है कि नया भवन फरवरी अंत तक हस्तांतरित कर दिया जाए। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर कार्यदायी संस्था देरी करती है, तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।