Home अपना उत्तराखंड 52 और 58 साल की उम्र में दिया चोरी को अंजाम

52 और 58 साल की उम्र में दिया चोरी को अंजाम

1072
SHARE
उम्र 52 व 58 साल और इस उम्र में चोरी। शक्ल से भोले-भाले दिखने वाले ग्रामीणों को देखने पर विश्वास नहीं होता कि यह चोरी कर सकते हैं। चोरी भी शातिराना ढंग से। लेकिन जब वह खुद ही स्वीकार करते हैं कि उन्होंने चोरी को अंजाम दिया है, तो विश्वास करना पड़ता है।

श्रीनगर गढ़वाल में बुजुर्ग पूर्व सैनिक के बैग से 30 हजार रुपये निकालने वाले दोनों चोरों की यही कहानी है। एक चोर 58 साल का है, तो दूसरा 52 साल का। एक का गांव में छोटा सा पोल्ट्री फार्म है और दूसरा उससे अक्सर मुर्गे खरीदने आता है। जिसके चलते उनमें दोस्ती हो गई।

प्रोफेशनल चोर लगते हैं दोनों आरोपी
दोनों ही दिखने में दोनों भोले भाले ग्रामीण नजर आते हैं। लेकिन उन्होंने जिस चालाकी से बैग से रुपये निकाले, उससे वह प्रोफेशनल चोर नजर आते हैं। सीसीटीवी कैमरों में कैद हुआ है कि किस तरह दोनों ने पहले तो शिकार के लिए बुजुर्ग को टारगेट किया। इसके बाद आरोपी उसका बैंक से पीछा कर बैग से रुपये निकाले।

जब वह सफल नहीं हुए तो एक ने बुजुर्ग के साथ बात करते हुए ध्यान भटकाया और दूसरे ने इस बीच बैग की चेन खोलकर हाथ साफ कर दिया। उनका काम देखकर लगता है कि वह पहले भी चोरी कर चुके होंगे। हालांकि आरोपी सुरेश और मकान सिंह का कहना है कि उन्होंने पहली बार चोरी की है। रुपये देखकर उनकी नीयत खराब हो गई थी।