Home अपना उत्तराखंड 100 साल पुरानी परंपरा तोड़ेगा गुरुकुल कांगड़ी विवि, उपाधियों पर नहीं होंगे...

100 साल पुरानी परंपरा तोड़ेगा गुरुकुल कांगड़ी विवि, उपाधियों पर नहीं होंगे कुलाधिपति के हस्ताक्षर

1231
SHARE
गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय की उपाधियों पर बिना कुलाधिपति के हस्ताक्षर लिए जारी करने का फैसला लिया गया है. दरअसल, हजारों उपाधियों पर कुलाधिपति द्वारा हस्ताक्षर करना टेढ़ी खीर हो रहा था. जिसको देखते हुए यह प्रस्ताव पारित किया गया है. जिसके बाद इसे अमल में लाने के लिए प्रबंध मंडल को भेज दिया गया है. इस प्रस्ताव पर प्रबंध मंडल की स्वीकृति मिलने के बाद गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय की उपाधियों पर कुलाधिपति के हस्ताक्षर करने की करीब एक शताब्दी पुरानी परंपरा बदल जाएगी.

जिसके बाद विश्वविद्यालय के कुलपति, कुलसचिव के हस्ताक्षरों से ही विवि की उपाधियों को प्रदान किया जाने लगेगा. 1912 में गुरुकुल कांगड़ी में पहला दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया था. उस दौर से अबतक कुलाधिपति के हस्ताक्षर के बाद ही विवि के दीक्षांत समरोहों में छात्र-छात्राओं को उपाधियां प्रदान की जाती थी. लेकिन अब इसमें आने वाली कई व्यावहारिक दिक्कतों को देखते हुए इस परंपरा को बदलने का फैसला लिया गया है.