Home अपना उत्तराखंड हल्द्वानी: बस से कुचलकर हुई थी मासूम की मौत, गमगीन माहौल में...

हल्द्वानी: बस से कुचलकर हुई थी मासूम की मौत, गमगीन माहौल में दफनाया गया शव

882
SHARE

बनभूलपुरा थाने के पास चोरगलिया रोड पर बुधवार अपराह्न तेज रफ्तार बस ने एक मासूम को कुचल दिया। इससे उसकी मौत हो गई, जबकि उसका भाई घायल हो गया। गुरुवार को गमगीन माहौल में मासूम के शव को दफनाया गया। इस दौरान कब्रिस्तान में हुजूम उमड़ पड़ा।

बुधवार को हुए हादसे के बाद लोग भड़क गए और उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। आक्रोशित लोगों ने करीब तीन घंटे तक पथराव कर बवाल काटा और दो बार आगजनी की कोशिश की। पथराव से दो बसें क्षतिग्रस्त हो गईं थी। कोतवाल और एसएसआई सहित करीब 10 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। पत्रकार और छायाकारों को भी चोट लगी है।

पुलिस को स्थिति नियंत्रित करने के लिए दो बार लाठीचार्ज करना पड़ा। बवाल के आरोप में पुलिस ने लाइन नंबर 17 निवासी वारिस सहित दो युवकों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने आरोपी बस चालक वीर सिंह उर्फ विजय निवासी मैनाझुंडी  सितारगंज को हिरासत में ले लिया।

लोगों ने बस को रोककर पथराव शुरू कर दिया

हुआ यूं कि बनभूलपुरा लाइन नंबर 17 निवासी सईद का चार साल का बेटा अदनान और छह साल का जुबैर बुधवार अपराह्न तीन बजे छोटी साइकिल लेकर ट्यूशन पढ़ने गए थे। मोड़ पर पहुंचते ही चोरगलिया की तरफ से आ रही निजी बस (यूपी 03-4743) ने साइकिल को टक्कर मार दी। इससे दोनों बस की चपेट में आ गए। आसपास के लोग दोनों को सुशीला तिवारी अस्पताल ले गए।

इधर, लोगों ने बस को रोककर पथराव शुरू कर दिया। चालक ने थाने में घुसकर जान बचाई। चोरगलिया की तरफ जा रही निजी बस (यूए 12-1214) को भी गुस्साए लोगों ने रोक लिया। बस में सवार यात्री निकलकर भाग खड़े हुए। गुस्साए लोगों ने चोरगलिया रोड पर बस और टेंपो संचालन बंद करने की मांग को लेकर पथराव शुरू किया। पथराव से कोतवाल विक्रम सिंह राठौर, बनभूलपुरा थाने के एसएसआई मंगल सिंह नेगी सहित तीन पुलिसकर्मी भी घायल हो गए।

इधर, अदनान की इलाज के दौरान सुशीला तिवारी अस्पताल में मौत हो गई। यह सूचना मिलते ही बनभूलपुरा मोहल्ले के लोग और भड़क गए। उन्होंने फिर से पथराव शुरू कर दिया। इससे वहां अफरातफरी मच गई और मार्ग पर आवागमन ठप हो गया। पुलिस ने ताज चौराहे, इंदिरानगर रेलवे क्रासिंग मार्ग को बैरियर लगाकर बंद कर दिया। इस बीच, एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव, सिटी मजिस्ट्रेट पंकज उपाध्याय, एसडीएम एपी बाजपेई, सीओ दिनेश चंद्र ढौडियाल फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इसके बाद भी पथराव रुक-रुक कर जारी रहा। भीड़ ने दोनों बसों को क्षतिग्रस्त कर आग लगाने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने आग को बुझा दिया। पुलिस ने लाठी भांजकर पथराव कर रहे लोगों को खदेड़ा।