Home अपना उत्तराखंड देवभूमि में बर्फबारी फिर बढ़ाएगी मुसीबत, 4 जिलों में हिमस्खलन की आशंका

देवभूमि में बर्फबारी फिर बढ़ाएगी मुसीबत, 4 जिलों में हिमस्खलन की आशंका

1237
SHARE

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ चमोली, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिलों के उंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और हिमस्खलन की आशंका है। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के प्रभारी राहुल जुगरान की ओर से जिलाधिकारियों को भेजे पत्र में 11 मार्च की शाम से 12 मार्च की शाम तक दो हजार मीटर से उंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी और हिमस्खलन की आशंका जताई गई है। इसको देखते हुए प्रशासन से सावधानी बरतने को कहा गया है।

वहीं मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को भी प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश हो सकती है। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ के ज्यादातर इलाकों में हल्की बारिश का भी अनुमान है। वहीं, अन्य जिलों में भी बादल छाये रह सकते हैं।

रात में हो रही पिछले साल से ज्यादा ठंड

मार्च के महीने में रातें इस बार पिछले साल से ज्यादा ठंड हो रही हैं। राजधानी में पिछले वर्ष सबसे कम न्यूनतम तापमान 10.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था। जबकि इस साल बारिश के बाद पारा गिरकर 9.6 डिग्री तक पहुंच चुका है।

पिछले दस वर्षों के दौरान मार्च में सबसे ठंडी रात वर्ष 2017 में रही थी, जब पारा लुढ़क कर 5.2 डिग्री तक पहुंच गया था। 2018 में रात को सबसे कम तापमान 10.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था। मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस वर्ष अब तक मार्च में रात का तापमान 10-12 के बीच ही बना हुआ है। सोमवार को राजधानी समेत आसपास के क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई, जिसके बाद पारा गिरकर 9.6 डिग्री तक पहुंच गया।

राजधानी दून समेत आसपास के क्षेत्रों में सुबह से हल्के बादल छाए रहे। बीच में तेज हवाएं चलने के साथ हल्की बूंदाबांदी भी हुई। दोपहर बाद आसमान काले बादलों से घिर गया और काफी देर तक हल्की रिमझिम बारिश होती रही। शाम के समय भी एक से दो दौर की हल्की बौछारें पड़ी। हालांकि इससे गर्मी पर बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ा। राजधानी के अधिकतम तापमान में ज्यादा गिरावट नहीं देखी गई। अधिकतम तापमान 26 डिग्री के आसपास ही बना रहा।